दिल में होली जल रही है

फिर यादों की हवा चली है
कैसी फिर यह आग लगी है
दिल में होली जल रही है ।१।

नशा है कैसा खुली ज़ुल्फ़ का
हुई है मुद्दत पर जाने क्यों
सांसों में भंग सी घुल रही है ।२।

बैठे हो तुम सामने मेरे
समंदर किनारे अल्हड़ शाम
गालों पे लाली मल रही है ।३।

किसने दी है थाप अमित
किसकी पायल की मधुर तान
ज़ज्बातों को यूँ छल रही है।४।

In response to: Reena’s Exploration Challenge # 79

9 thoughts on “दिल में होली जल रही है

Add yours

  1. English translation –

    gusty winds from the past
    fanning flames of I-don’t-know-what
    Holi blazing in my heart…..

    forgotten highs
    intoxicated breaths
    dark shadows of your tresses

    I see you here – the evening
    dissolves on your cheeks
    -looks like you blushed

    a gentle beat
    jingling anklets
    tease playfully
    -Whose?

    Liked by 2 people

Leave a Reply to hecblogger Cancel reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

Blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: